शनिवार, 1 अगस्त 2009

कोई कर्म छोटा नहीं

टायलेट कर्मचारी से प्रधानमंत्री



कोई भी काम छोटा नहीं होता। अपने लगन से आदमी ऊँचे से ऊँचा पद पा सकता है। इसका जीताजागता प्रमाण है आस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री केविन रड। देश के सर्वोच्च पद पर पहुँचने से पहले केविन रड ने कई ऑड काम किये जिनमें टायलेट साफ करने से लेकर फ़र्श पोंछने तक था।



‘सिडनी मर्निंग हेराल्ड’ ने खबर दी है कि आस्ट्रेलिया पर वैश्विक मंदी के प्रभव पर अपने अनुभव सुनाते हुए रड ने कहा कि एक समय उन्होंने लकड़ी के मिल में टायलेट क्लीनर का काम किया और टी वी पत्रकार लॉरी ओक्स के फ़्रश पर पोछा लगाया था। रड ने कहा कि इसके अलावा भी अन्य कई सच्चाइयां हैं।



आज की चलती वैश्विक मंदी पर चर्चा के चलते उन्होंने देशवासियों को नसीहत दी कि विश्व की कई अर्थव्यव्स्थाएं आज ध्वस्त हो रही हैं, इसलिए हमें लचीला रुख अपनाना होगा ; जिसका अर्थ है कि अब दिली चाह की नौकरी नहीं उपलब्ध है तो हो सकता है कि आपको जो मिला वह हो सकता है कि आपकी उन्नति की सीढ़ी बनें। उन्होंने यह नसीहत करते हुए कहा कि यदि यह एक प्रधानमंत्री के लिए काफी हो सकता है तो युवाओं के लिए भी समुचित होनी चाहिए

5 टिप्‍पणियां:

दिनेशराय द्विवेदी Dineshrai Dwivedi ने कहा…

काम कोई भी छो़टा नहीं होता। नित्य ठीक से टायलट साफ कर मैं खुद को और परिवार को संक्रमणों से बचाता हूँ।

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक ने कहा…

बहुत प्रेरणा देने वाली पोस्ट लगाई है आपने।
आभार!

AlbelaKhatri.com ने कहा…

jeevanopyogi post !
dhnyavaad !

ओम आर्य ने कहा…

सच मे ऐसा लगा की जिन्दगी मे निराशा कोई चीज नही होती है ......आदमी को धैर्य से काम लेकर प्रेरणा को जगाये रखने की जरुअरत है .......बधाई इतनी सुन्दर बात बताने के लिये...

विवेक सिंह ने कहा…

प्रेरणादायक प्रसंग !

आभार !